Breaking News

अपनी डाइट में शामिल करें ये चीजें, भूलने की आदत से मिलेगा छुटकारा


किसी चीज को रखकर भूल जाना और फिर घंटों उसे ढूंढते रहना, किसी कमरे में जाकर सोचना कि मैं यहाँ आई क्यों थी, हमेशा अपने एकाउंट्स के पासवर्ड्स भूल जाना, मेरी लाइफ में ये बातें बहुत आम हैं। सिर्फ मैं ही नहीं, हममें से बहुत से लोग अक्सर ही अपनी भूलने की आदत से परेशान रहते हैं।

हमारे शरीर में दिमाग ही एक ऐसा अंग होता है जो सबसे ज्यादा काम करता है। इतना ही नहीं, वो एक साथ कई सारे काम करता है। हम उससे काम तो करवा लेते हैं, पर उसका ध्यान नहीं रखते है। फिर क्या, बस दिक्कतें शुरू हो जाती हैं।


इसलिए हमेशा ध्यान रहे कि आपके दिमाग को भी हमेशा जरुरी पोषण मिलते रहना चाहिए। इसमें हम आपकी थोड़ी मदद कर देते हैं। हम आपको बताते हैं कि दिमाग के अच्छे स्वास्थ्य के लिए और याददाश्त बढ़ाने के लिए आपको किन चीज़ों का सेवन करना चाहिए।

करें बादाम का सेवन
बादाम खाने से बुद्धि बढ़ती है, ये तो आपने आमतौर पर सुना ही होगा। बादाम में मुख्य रूप से आयरन, कॉपर, फॉस्फोरस, और विटामिन B पाए जाते हैं। ये सभी पोषक तत्व साथ मिलकर दिल, दिमाग और लिवर को स्वस्थ रखते हैं। 

अखरोट से चले दिमाग तेज
अखरोट का तो आकार ही इंसान के दिमाग की तरह होता है। अखरोट में भारी मात्रा में न्यूरोप्रोटेक्टिव कंपाउंड्स पाए जाते हैं। इसमें मुख्य रूप से ओमेगा-3 फैट्स, मेलाटोनिन, विटामिन E और एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं। इसमें मैंगनीज़, कॉपर, आयरन, जिंक, मैग्नेशियम, सेलेनियम जैसे मिनरल्स भी पाए जाते हैं, जो याददाश्त बढ़ाने में सहायक होते हैं

काली मिर्च है बड़े काम की
छोटे बम से बड़ा धमाका। काली मिर्च के ऊपर यह बात बिलकुल सही बैठती है। काली मिर्च केवल दिखने में छोटी होती है, क्योंकि इसे खाते ही इसके तेवर पता चल जाते हैं। लेकिन यदि यही काली मिर्च मक्खन के साथ मिलाकर खायी जाये तो दिमाग की कमजोरी को दूर करने में सहायता करती है।

सौंफ का दाना करे कमाल
खाना खाने के बाद सौंफ खाना आमतौर पर लोगों की दिनचर्या का हिस्सा होता है। सौंफ खाने को पचाने का काम तो करती ही है, वहीं साथ ही साथ यह आपके दिमाग की भी देखभाल करती है। विशेषज्ञों के अनुसार खाने के बाद मिश्री के साथ सौंफ मिलाकर खाने से तनाव दूर होता है।

मसाले के अलावा अन्य गुण भी हैं दालचीनी में 
खड़े मसालों में दालचीनी का अपना एक ख़ास स्थान है। इसके इस्तेमाल से खाने का स्वाद दोगुना हो जाता है। लेकिन मसाला होने के साथ ही दालचीनी में औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। अगर आप रोजाना रात में सोते समय शहद के साथ एक चुटकी दालचीनी पावडर का सेवन करते हैं तो इससे आपको तनाव में राहत मिलेगी। जिससे आपके दिमाग की कार्यक्षमता भी काफी हद तक बढ़ जाएगी। 

ये तो आप खा ही लेंगे
खुश मत हो जाना कि अब आप जितनी चाहे उतनी चॉकलेट्स खा सकते हैं। मैं आपको साफ़ तौर पर बता दूँ कि हम यहाँ डार्क चॉकलेट की बात कर रहे हैं। डार्क चॉकलेट कई मायनों में सेहत के लिए अच्छी होती है। डार्क चॉकलेट में पाए जाने वाले flavonols ब्लड वेसल्स की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाते हैं, जिससे याददाश्त बढ़ती है और दिमाग सही तरीके से काम करता है। साथ ही इससे आपका मूड भी ठीक होता है।

साबुत अनाज है पोषक तत्वों का खजाना
साबुत अनाज में भरपूर मात्रा में कॉम्प्लेक्स कार्बोहायड्रेट, फाइबर और ओमेगा 3 एसिड्स होते हैं जो दिल और दिमाग की सुरक्षा करते हैं। साथ ही इनमें मौजूद विटामिन B दिल व दिमाग में ब्लड फ्लो नियंत्रित रखते हैं जिससे मूड भी ठीक रहता है। इन अनाजों को अंकुरित रूप में खाने से अधिक लाभ होता है।

टमाटर दे स्वाद के साथ सेहत भी 
टमाटर में लाइकोपीन नाम का बहुत प्रभावशाली एंटी-ऑक्सीडेंट मौजूद होता है। यह दिमाग की डिमेंशिया जैसी स्थितियों से रक्षा करता है। जिससे अल्ज़ाइमर जैसी बीमारियों से बचाव होता है।

कद्दू के बीज़ करें ट्राय
कद्दू के बीज़ में अन्य बीज़ों के मुकाबले अधिक मात्रा में ज़िंक होता है। यह खनिज, याददाश्त और सोचने की शक्ति को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इन बीजों में मौजूद मैग्नेशियम, विटामिन B और ट्रायप्टोफन तनाव को कम करने के साथ ही मूड को भी अच्छा रखने में मदद करते हैं।

पालक के हैं हज़ार फायदे
पालक में मौजूद पौषक तत्व DNA की क्षति से रक्षा, कैंसर सेल और ट्यूमर की वृद्धि को रोकने जैसे काम करते हैं। साथ ही यह दिमाग की एजिंग प्रोसेस को भी धीमा करते हैं।