Breaking News

बालों के लिए वरदान घर पर बना हर्बल शैम्पू, Homemade herbal shampu



बालों के लिए वरदान घर पर बना हर्बल शैम्पू – बाजार के शैम्पू से आपके बालो का नुकसान होता है. देश का पैसा भी विदेशो में जा रहा है. विदेशी कम्पनियों ने भारतीय बाजार में भारतीयों के बीच में अपने प्रोडक्ट उतारे है. हमें लाभ कम नुक्सान ज्यादा हुआ है. बीमारियाँ बढ़ी है. इसलिए धीरे धीरे इनकी तरफ से ध्यान हटाये. देश में निर्मित वस्तुओ को बढ़ावा दे.

अगर स्वयं बनाने की आदत डाले तो दो तीन फायदे भी मिलेगे. पैसे की भी बचत होगी. मतलब कम कीमत में शुद्ध और अधिक निर्माण और दूसरा फायदा आपके काम करने की एनर्जी भी बढ़ेगी.

 हर्बल शैम्पू बनाने के लिए सामग्री

सूखा आँवला – 50 Gram
रीठा – 50 ग्राम बिना बीज
शिकाकाई – 50 ग्राम Gram
मेथी दाना – 50 Gram
एलोवेरा का गूदा – 50 Gram
हर्बल शैम्पू बनाने की विधि

सारी चीजों को मिलाकर रातभर पानी में भिगो दीजिये. सुबह इसे 15 मिनट उबाल लीजिये और जब ये ठंडा हो जाये तो इसे छानकर इसका पानी अलग कर लीजिये. अब इस पानी में एक नीबू का रस डालकर अच्छी तरह मिला लीजिये. एक बेहतरीन हर्बल शैम्पू तैयार है. आप इसे एक बोतल में भरकर रख लीजिये और जब भी बाल धोने हों तो इस शैम्पू का इस्तेमाल कीजिये.

यह शैम्पू बालों के लिये बहुत ही फायदेमंद है. हाँ इस से झाग तो नहीं मिलेगा. मगर स्वस्थ बाल ज़रूर मिलेंगे.
 रूखे और बेजान बालो के लिए शेम्पू

रूखे बालों में भी जान आ जाती है और वे सिल्की भी हो जाते हैं. अगर बाल बहुत ज्यादा दो मुंहे हैं तो हर्बल शैम्पू का इस्तेमाल करें.

हर्बल शैम्पू बनाने की सामग्री

एक चम्मच बेकिंग सोडा
एक चम्मच रीठा चूर्ण
एक चम्मच सुखी हुई नीम की पत्तियों का चूण लें.
हर्बल शैम्पू बनाने की विधि

इन सभी को लेकर इसे एक कप पानी में घोल ले, यह तैयार हो गया आपका हर्बल शेम्पू. इसे किसी बंद बोतल में रख लें और नहाते समय एक चम्मच इस शम्पू को बालो पर लगाएं. इससे बाल चमकदार और रूसी से मुक्त होंगे. आप बाजार में मिलने वाले हार्मफुल शैम्पू (Harmful shampoo) के बुरे  प्रभाव से भी बच सकते हैं.

इसके साथ अगर आप कंडीशनर का प्रयोग करना चाहते है तो इस शेम्पू से नहाने के बाद गुडहल भी 2-3 फूलों को मसलकर सर पर लगाने के पश्चात कुछ समय के बाद धो ले. यह शेम्पू और कंडीशनर किसी भी केमिकल से मुक्त और बालो के लिए स्वास्थ्यवर्धक रहेगा.

बालों के झडऩे का एक कारण डेंड्रफ या रूसी की समस्या भी होती है. इसके लिए रात में बालों की जड़ों में भृंगराज या आंवलें के तेल को खूब अच्छी तरह से नियमित गहराई तक लगाएं. अपना तौलिया अलग इस्तेमाल करें. रासायनिक साबुन को बालों में लगाने से बचें. इसके स्थान पर मेडीकेटेड साबुन (Madiketed soap)या शैम्पू का इस्तेमाल करें.

कोई टिप्पणी नहीं